संतोष राज की रिपोर्ट

भागलपुर सुलतानगंज के अजगैविनाथ धाम मे लंदन के लेखक डॉ.रोमा बसु एंव तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के रिसर्च स्कोलर डॉ.पंकज कुमार सिंह पहुचे।इस दौरान अजगैविनाथ मंदिर मे बने कलाकृति को देखते और भारत कि धरोहर सांस्कृतिक सभ्यता को जिन्दा रखने मिट्टी मे दबे हुए कलाकृतियों को मिट्टी खोदकर बाहर निकाला गया।इस दौरान लंदन के लेखक डॉ.रोमा बसु ने मिडिया को बताया कि भारत की धरोहर कलाकृति अब मिट्टी मे दबने लगी हैं ।

भारत के धरोहर कलाकृतियों को उजागर करने के लिए अजगैविनाथ धाम पहुची हु।और भारत कि धरोहर कलाकृतियों पर पुस्तक लिखने कि बात इसकी लिए भारत के विभिन्न देव स्थलों मे जा जा कर पुराने कलाकृतियों की पहचान लोगों तक इसके लिए उजागर करना चाह रही हु।एक पुस्तक जो लिखा हैं |

कांवर तीर्थ यात्रा की पुस्तक न ई दिल्ली एंव लंदन में प्रकाशित हो चुकी हैं ।इस पुस्तक मे पुरे कांवर कि विशेषता पर बताया गया हैं।साथ ही डॉ.पंकज कुमार सिंह ने बताया कि भारत की सभ्यता एंव सांस्कृतिक हैं।उस मे मुर्ती कला और.लीपी का काफी महत्व हैं।इसके रख रखाअ के लिए हमे लोगों को जागरूक करने के लिए डॉ.रोमा बसु जी के साथ दो दिन से भ्रमण कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *