🙏 श्री विष्णु पादो विजयते🙏

16 मई को वैशाख पूर्णिमा की तिथि है और इसी दिन साल 2022 का पहला चंद्र ग्रहण भी लगेगा। चंद्र ग्रहण हमेशा पूर्णिमा तिथि पर ही लगता है।  चंद्रग्रहण वृश्चिक राशि और विशाखा नक्षत्र में लगेगा। भारत में इस चंद्रग्रहण को देखा नहीं जा सकेगा जिसके कारण सूतक काल प्रभावी नहीं रहेगा।
विदेश में यह ग्रहण विशेष रूप से दिखाई देखा. विदेशों में उत्तरी दक्षिणी अमेरिका, यूरोप, अफ्रीका में चंद्र ग्रहण दिखाई देगा. इस चंद्र ग्रहण का भारत पर असर नहीं होगा. भारत में कोई भी ग्रहण संबंधित कोई भी नियम मान्य नहीं होंगे. विदेश में पड़ने वाला चंद्र ग्रहण वहां के लोगों और वहां बसे भारतीयों की राशि को भी प्रभावित करेगा. ग्रहण शुरू होने से 9 घंटे पहले सूतक शुरू हो जाता है इसलिए उस समय से विदेश में रहने वाले लोगों को सूतक संबंधित नियमों का पालन करना होगा.
 
चंद्र ग्रहण लगने का समय

16 मई को चंद्र ग्रहण,परंतु भारत में नहीं दिखेगा न ही सूतक लगेगा

16 मई को लगने वाला चंद्र ग्रहण इस साल का पहला चंद्र ग्रहण होगा और इस ग्रहण की अवधि कुल मिलाकर 1 घंटे 24 मिनट की होगी। भारतीय समयानुसार चंद्र ग्रहण 16 मई के दिन सुबह 08 बजकर 59 मिनट से सुबह 10 बजकर 23 मिनट तक रहेगा।

कहां-कहां दिखाई देगा चंद्रग्रहण

साल 2022 का पहला यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। इससे पहले 30 अप्रैल को भी सूर्य ग्रहण लगा था वह भी भारत में नहीं दिखाई दिया था। यह चंद्रग्रहण यूरोप,दक्षिण-पश्चिमी एशिया,अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका,दक्षिण अमेरिका,प्रशांत महासागर,हिंद महासागर,अटलांटिक और अंटार्कटिका में दिखाई देगा। 

चंद्र ग्रहण का सूतककाल 

भारत में चंद्र ग्रहण दिखाई नहीं देने के कारण इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा। धार्मिक नजरिए से सूतक काल को अशुभ माना जाता है। चंद्र ग्रहण के दौरान सूतक काल का समय ग्रहण के शुरू होने के 9 घंटे पहले लग जाता है। सूतककाल के दौरान किसी भी तरह का शुभ और मांगलिक कार्य नहीं किया जाता है ऐसी मान्यताएं पौराणिक काल से चली आ रही है।

इस राशि में लगेगा चंद्र ग्रहण

साल का पहला चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि में लगेगा। ऐसे में इस राशि के जातकों को सावधानी बरतनी होगी। जातकों को मानसिक तनाव भी हो सकती है।

चंद्र ग्रहण पर शनि और गुरु की स्थिति

16 मई को लगने वाला चंद्र ग्रहण विशेष ज्योतिषीय योग में होगा। चंद्र ग्रहण के दौरान देवगुरु बृहस्पति मीन राशि में और शनिदेव कुंभ राशि में विराजमान होंगे।

·         यह चंद्र ग्रहण किन राशियों के लिए फायदेमंद होगा इस बारे में भी जान लीजिए.
मेष: कारोबार में सफलता मिल सकती है और धन-धान्य में वृद्धि के योग बन रहे हैं. यह चंद्र ग्रहण अनुकूल फल देगा. करियर में तरक्की मिलेगी. व्यापारियों को लाभ होगा. धन लाभ होने के प्रबल योग हैं. कामों में सफलता भी मिलेगी. 
वृष : यह चंद्र ग्रहण शुभ है. वृष : यह चन्द्रग्रहण अनुकूल रहेगा. अगर मेहनत करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी. धैर्य से काम लें. धैर्य रखने की जरूरत है और बड़ी सफलता उनकी झोली में होगी. मान-सम्मान बढ़ेगा. महत्वपूर्ण काम पूरा हो सकता है.
 
मिथुन- परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ऊर्जा कम हो सकती है। भाई-बहनों के साथ विवाद हो सकता है। आर्थिक परेशानी आ सकती है।
कर्क : चन्द्रग्रहण का कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा. कहीं से खुशखबरी मिलने के आसार बन रहे हैं और परिवार वालों के साथ बिगड़े हुए संबंध भी सुधर सकते हैं.
सिंह : परिवार में कुछ अच्छी खबरें सुनने मिल सकती हैं लेकिन जल्दबाजी से बचना होगा. आर्थिक पक्ष मजबूत हो सकता है. कुछ सुखद सूचनाएं मिल सकती हैं. धन लाभ होगा, जो उनकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करेगा. परिवार में खुशहाली रहेगी.  हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त होगी। किसी क्षेत्र में निवेश करना चाहते हैं तो कर दें। इससे उन्हें अवश्य ही फायदा मिलेगा। जीवनसाथी के साथ रिश्तों में और भी ज्यादा मजबूती आएगी।
तुला- आर्थिक मोर्चे पर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। प्रॉपर्टी में निवेश से नुकसान हो सकता है। इस दौरान किसी भी नए काम की शुरुआत न करें।
वृश्चिक : कुछ बुरी खबरें सुनने मिल सकती हैं या कुछ नुकसान हो सकता है. इसलिए अपने इष्ट देव की पूजा करें, ताकि बिगड़े काम बन सकें. अपने गुस्से पर काबू रखना होगा। जीवनसाथी के साथ रिश्ते खराब हो सकते हैं। लंबी यात्रा के योग बन रहे हैं। आर्थिक समस्या हो सकती है।
धनु: संयंम के साथ काम लेना होगा और जल्दबाजी करने से बचें. इस दिन उनका किसी से मनमुटाव हो सकता है इसलिए शांति से काम लेने से ही बात बनेगी. बिजनेस में तरक्की मिलने के साथ कई निवेशक मिल सकते हैं। वहीं नौकरी में पदोन्नति मिल सकती है। चारों ओर से खुशियां ही खुशियां मिलेगी।
कुंभ राशि: चंद्र ग्रहण शुभ संकेत लेकर आया है. लेकिन इसके लिए आपको गलत कामों से बचना होगा. किसी के बारे में बुरा नहीं सोचना है और भगवान की पूजा भी करनी है.
चंद्र ग्रहण के दौरान न करें ये काम
– ग्रहण के दौरान कभी भी कोई शुभ काम या देवी-देवताओं की पूजा नहीं करनी चाहिए।
– ग्रहण के दौरान न ही भोजन पकाना चाहिए और न ही कुछ खाना-पीना चाहिए।
– ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं का ग्रहण नहीं देखना चाहिए और न ही घर से बाहर जाना चाहिए। 
– ग्रहण के दौरान तुल सी समेत अन्य पेड़-पौधों नहीं छूना चाहिए।
चंद्र ग्रहण में क्या करें
– ग्रहण शुरू होने से पहले यानी सूतक काल प्रभावी होने पर पहले से ही खाने-पीने की चीजों में पहले से तोड़े गए तुलसी के पत्ते को डालकर रखना चाहिए।
– ग्रहण के दौरान अपने इष्ट देवी-देवताओं के नाम का स्मरण करना चाहिए।
– ग्रहण के दौरान इसके असर को कम करने के लिए मंत्रों का जाप करना चाहिए।
– ग्रहण खत्म होने पर पूरे घर में गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *